avibyakti

अपनी तथा आप सबों की अभिव्यक्ति का आकांक्षी

178 Posts

997 comments

Reader Blogs are not moderated, Jagran is not responsible for the views, opinions and content posted by the readers.
blogid : 3734 postid : 1245283

फँस गए कपिल शर्मा

Posted On 10 Sep, 2016 social issues में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

. . . .कपिल शर्मा को अब सच बोलने की सजा जरूर मिलेगी. ९ सितम्बर को सुबह-सुबह ट्वीट में लिख कर कि ‘मैं पिछले पांच साल से 15 करोड़ रुपये टैक्स भर रहा हूं. इसके बावजूद अपना ऑफिस बनाने के लिए मुझे बीएमसी को 5 लाख की घूस देनी होगी.’ कपिल शर्मा आफत में फँस गए. कपिल ने ये भी लिखा कि क्या यही अच्छे दिन है? आजाद भारत में सच बोलने की सजा मिलना आश्चर्य जनक नहीं है. मौजूद समय में देश में घूस लेना और देना व्यावहारिक पक्ष हो गया है, इसका क़ानूनी पक्ष है कि लेना और देना दोनों अपराध है. काम जल्दी होने और ज्यादा नहीं चक्कर लगाने के एवज में घूस लिया और दिया जाता है. पर इस अपराध को सिद्ध कर पाना टेढ़ी खीर है. घूस देने वाला जनता है कि इस अपराध के खिलाफ आवाज उठाने से उसका काम नहीं होगा और कानून के दायरे में आने से उसका कई सालों का समय बर्बाद होगा और अंततः कोर्ट-कचहरी कि खर्चीली व्यवस्था में घूस देने से भी ज्यादा खर्च हो जायेगा. परेशानी भी होगी. देश के व्यवसायी घूस देने के लिए अभ्यस्त है, और बुरा भी नहीं मानते है. काम जल्दी हो और परेशानी रहित हो, इसके लिए घूस देते है.
. . . . . ऐसा भी नहीं है कि घूस लेने वाला अकेले उस रकम को हजम कर जाता है. ऊपर से निचे तक एक व्यवस्था बनी हुई है और घुस की रकम को ईमानदारी से बांटी जाती है. घूस लेने देने का काम सिर्फ बीएमसी में ही होता है, ऐसी बात नहीं है. घुस की परंपरा गाजर घास की तरह सम्पूर्ण भारत में है. संविधान को अक्षुण रखने वाले और बदले की भावना से किसी तरह का काम नहीं करने की सपथ लेने वाले भी घूस की परंपरा को कायम रखने में आगे हैं. कपिल शर्मा के ट्वीट पर चिंता करने के वजाय अब सभी उन्ही के खिलाफ बोलने और धमकाने में लग गए है. बीएमसी वालों ने तो कपिल शर्मा के इस्तेमाल में लाये जा रहे उस जमीन को (जिसके लिए उन्होंने ट्वीट किया) को अवैध पार्किंग ही सिद्ध कर दिया, मात्र कुछ ही घंटे में. भ्रष्टाचार का बाजार इतना जबरदस्त और मजबूत है कि कपिल शर्मा को सफाई देनी पड़ी की उन्होंने किसी पार्टी की आलोचना नहीं की है, बल्कि भ्रष्टाचार पर उन्होंने अपनी चिंता जाहिर की है. शिव सेना और महाराष्ट्र नव निर्माण सेना ने तत्काल धमकी दे कर कपिल की बोलती बंद करा दी है मनसे ने कहा है कि माफी नहीं माँगने तक मुम्बई की सूटिंग पर प्रतिबन्ध रहेगा. और कई राजनेताओं का कोप के शिकार हो गए कपिल.
. . . . कपिल शर्मा के ट्वीट पर उनकी जितना फजीहत होना था हो गया पर अब ये जरुरी है कि इस भ्रष्टाचार रोकने के जिम्मेवार लोग इस पर सोचे. धमकी देने वाले बयानों पर भी देश के सक्षम संस्था बहादुरी के साथ करवाई करे. बीएमसी आज जिसको अवैध कब्ज़ा बता रही उस कब्ज़ा पर अब से पहले तक चुप क्यों थी ? सिर्फ नोटिश भेज देने से जवाबदेहि ख़त्म हो गया. इन सभी मुद्दों पर सोचने और जांचने की जरुरत है. भ्रष्टाचार के ट्वीट पर जिन लोगों और पार्टियों ने कपिल को धमकाने का काम किया है, उन सबो पर क्या करवाई हो रही है, देश की जनता जानना चाहती है. सम्पूर्ण देश में भ्रष्टाचार का खेल खुल कर चल रहा है और अगर किसी सक्षम संस्था को नहीं दिख रहा है तो यह देश का दुर्भाग्य है. इन्ही दुर्गुणों के चलते विश्व बिरादरी में कई मामलों में हम फिसड्डी हैं. अपनी चौधरियाहट कायम रखने वालों लोगो को सोचना चाहिए कि अपनी चौधरियाहट को कायम रखने के एवज में देश की क्षति हो रही है. कपिल शर्मा एक कलाकार है, देश के शान हैं, कला कई दुनियां में ये स्तम्भ है, ऐसे लोगों को हतोत्साहित करना देश को कमजोर करना है.



Tags:   

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

6 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

Lily के द्वारा
October 17, 2016

I just hope whoveer writes these keeps writing more!

Dr shobha Bhardwaj के द्वारा
September 29, 2016

कपिल शर्मा मोदी जी से सवाल करते हैं अच्छे दिन कब आयेंगे उनके तो आ चुके | वह अकेले टैक्स नहीं भरते कमाई पर टैक्स दिया जाता है कपिल ने अन्य लोगों की तरह कब्जे की जमीन पर दफ्तर बनाने की कोशिश की थी और उसका काम चल ही रहा था बंद नहीं किया हाँ यदि वह ओरों की शिकायत करता पेड़ काट कर जमीन बढ़ा रहे हैं गलत हैं उसका सम्मान बढ़ता रहे हैं उसके आसपास के रहने वाले


topic of the week



latest from jagran